UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-राजकीय पालीटेक्निक संस्थाओं में ‘कर्मशाला अनुदेशक’ के पद हेतु चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र हुए जारी

उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा तकनीकी शिक्षा विभागान्तर्गत राजकीय पालीटेक्निक संस्थाओं में ‘कर्मशाला अनुदेशक’ के पद हेतु चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरण

प्रावधिक शिक्षा विभाग उत्तराखण्ड के अधीन राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थाओं में आज दिनांक 04.03.2024 को आई०आर०डी०टी० ऑडीटोरियम में चयनित कार्मशाला अनुदेशकों के नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में श्री सुबोध उनियाल, मा० मंत्री तकनीकी शिक्षा, वन, भाषा, निर्वाचन द्वारा अपने उद्बोधन में नव नियुक्त 101 अनुदेशकों एवं 01 पुस्तकाल्यध्यक्ष को ढ़ेर सारी बधाईयां एवं हार्दिक शुभकामनाए देते हुये हमारी सरकार द्वारा यशस्वी प्रधानमंत्री जी एवं मा० मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में युवाओं को रोजगार हेतु अथक प्रयास किये गये हैं। राज्य के युवाओं को सरकारी नौकरियों के साथ-साथ विभिन्न पॉलीटेक्निकों एवं इंजीरियरिंग कालेजों में कैम्पस प्लेसमेंट, रोजगार मेलों, ऑनलाईन प्लेसमेंट सेल आदि के माध्यम से विभिन्न उद्योगों मे रोजगार उपलब्ध कराये जा रहे हैं।

 

 

उनके द्वारा अवगत कराया गया कि विगत् वर्ष 2022-23 में पॉलीटेक्निकों में अध्ययनरत छात्रों में से 65 प्रतिशत छात्रों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है, इस वर्ष विभाग द्वारा 75 प्रतिशत का लक्ष्य रखा गया है। दिनांक 08 जून 2023 को मुख्य सेवक सदन में आयोजित वृहद रोजगार नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में मा० मुख्यमंत्री जी के कर कमलों द्वारा 30 कम्पनियों में चयनित 272 छात्र-छात्राओं को नियुक्ति पत्र वितरण किये गये। इसके अतिरिक्त 19 फरवरी 2024 को भी 45 सहायक लेखाकारों को भी नियुक्ति पत्र वितरित किये गये।

उनके द्वारा प्रसन्नता व्यक्त करते हुये बताया गया कि तकनीकी शिक्षा विभाग को इतनी बड़ी संख्या में (101) कर्मशाला अनुदेशक एवं 01 पुस्तकालयाध्यक्ष मिलने जा रहे हैं। हम सब जानते हैं कि आज के युग में गुणवत्तापरक प्रशिक्षण देना महत्वपूर्ण है, हमें अपने डिप्लोमाधारियों को प्रयोगात्मक प्रशिक्षण देकर इतना हुनरमन्द बनाना

है कि वे देश में ही नहीं, अपितु विदेश में भी अपनी कौशलता को दिखाकर नया मार्ग प्रशस्त करें। उन्होने आशा व्यक्त कि की नये कर्मशाला अनुदेशक नवीन तकनीकी के माध्यम से छात्रों को नवीन प्रशिक्षण देकर रोजगार की दिशा में उच्च कीर्तिमान स्थापित करेंगे।

उनके द्वारा यह भी बताया गया कि हमारी सरकार नई तकनीकियों का प्रयोग करते हुए प्रदेश में डिजिटल क्रान्ति लाने के लिए प्रतिबद्ध है। हम प्रदेश को हर क्षेत्र में विकसित करते हुए जनमानस की समस्याओं का पारदर्शितापूर्ण निराकरण कर गुड गवर्नेस के साथ राज्य सरकार के विकल्प रहित संकल्प पर उत्तराखण्ड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

तकनीकी शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जिससे बेरोजगारी के ऐसे समय में, युवा अपने तकनीकी कौशल से नौकरी या स्व-रोजगार अपना सकते है। हमारी सरकार का लक्ष्य राज्य के अधिक से अधिक युवाओं को तकनीकी शिक्षा प्रदान कर रोजगार के अधिकाधिक अवसर उपलब्ध कराकर राष्ट्र एवं राज्य को उन्नत बनाना है।

सरकार ने राजकीय पालीटेक्निक नरेन्द्रनगर में इन्टीग्रेटेड संस्थान की स्वीकृति प्रदान की है, जिसमें युवा डिप्लोमा के पश्चात् शैक्षिक सत्र 2024-25 से बी०टैक० पाठ्यक्रम में प्रवेश पा सकेंगें। इसी प्रकार सरकार ने राजकीय पालीटेक्निक नैनीताल में बी०फार्मा० पाठ्यक्रम की स्वीकृति प्रदान की है जिसमें युवा डी०फार्मा० के पश्चात् शैक्षिक सत्र 2024-25 से बी०फार्मा० पाठ्यक्रम में प्रवेश पा सकेंगे। इसी प्रकार सरकार ने आई०आर०डी०टी० आमवाला देहरादून में डिप्लोमा इन ‘एयरक्राफ्ट मेन्टीनेन्स इंजीनियरिंग’ पाठ्यक्रम की स्वीकृति प्रदान की है जिसमें शैक्षिक सत्र 2024-25 से संचालित किया जाना प्रस्तावित है।

 

 

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top