UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :- दून अस्पताल प्रबंधन ने आखिर क्यों मांगी देहरादून एसएसपी से मदद

दून मेडिकल कालेज अस्पताल की इमरजेंसी एवं वार्डों में घूमने वाले दलालों को पकडऩे के लिए अस्पताल ने पुलिस से मदद मांगी गई है। इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने एसएसपी को पत्र भेजा है। चिकित्सा अधीक्षक डा.अनुराग अग्रवाल ने बताया कि एसएसपी को पत्र लिखकर संदिग्ध लोगों को पकड़ऩे एवं अस्पताल के बाहर खड़ी होने वाली गाड़ियो को हटवाने की मांग की गई है।

 

 

 

अगर आपको दून मेडिकल कालेज अस्पताल की इमरजेंसी में या उसके बाहर कोई शख्स मिले और वह आपको या मरीज को दूसरे अस्पताल जाने के लिए बरगलाए तो उस पर आंख बंद करके भरोसा न करें। क्योंकि, अस्पताल की इमरजेंसी और उसके आसपास मरीजों को निजी अस्पतालों में ले जाने वाला गैंग सक्रिय है। जिन पर लगाम कसने के लिए अस्पताल प्रशासन ने एक बार फिर पुलिस की मदद मांगी है।

दून मेडिकल कालेज अस्पताल की इमरजेंसी एवं वार्डों में घूमने वाले दलालों को पकडऩे के लिए अस्पताल ने पुलिस से मदद मांगी गई है। इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने एसएसपी को पत्र भेजा है। चिकित्सा अधीक्षक डा.अनुराग अग्रवाल ने बताया कि एसएसपी को पत्र लिखकर संदिग्ध लोगों को पकड़ऩे एवं अस्पताल के बाहर खड़ी होने वाली गाड़ियो को हटवाने की मांग की गई है।

अक्टूबर में भी पत्र भेजने पर पुलिस ने सक्रियता दिखाई थी। पर स्थिति वापस वैसी ही हो गई। एसएसपी को पत्र भेज निजी एंबुलेंसों की गतिविधियों पर भी नजर रखने की मांग उठाई गई है। प्राचार्य ने वायस कैमरे एवं डिजिटल बोर्ड लगाने की भी हिदायत दी है।

 

 

ऐसे लोगों की सूचना 104 या 102 पर फोन कर जानकारी देने को कहा है। प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना का कहना है कि एमएस और इमरजेंसी प्रभारी को स्पष्ट रूप से कहा गया है कि इस की तरह के मामलों की सघन निगरानी करें। अगर संदिग्ध लोग यहां घूमते हैं तो उनको चिह्नित करें और पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दें। ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने इसमें स्टाफ की भूमिका की निगरानी करने के निर्देश भी दिए हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top