UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-हरिद्वार के ग्रामीण अंचल में बुजुर्ग महिला हत्याकांड, बहु बनी सास की कातिल, प्रेमी संग रची साजिश , दो को भेजा जेल

हरिद्वार पुलिस ने फिर लहराया कानूनी रूप से अपनी दक्षता का परचम

कप्तान प्रमेन्द्र सिंह डोबाल के नेतृत्व में लगातार शानदार खुलासे कर पूरे प्रदेश में नाम कमा रही हरिद्वार पुलिस

ग्रामीण अंचल के बुजुर्ग महिला हत्याकांड का किया सफल खुलासा, दो को भेजा जेल

“किसी घटना को छुपाने के लिए इतना बड़ा कदम उठाना, किसी भी समाज के लिए चिंताजनक, झबरेड़ा पुलिस ने पिछले कुछ दिनों में शानदार खुलासे किये हैं :: एसएसपी हरिद्वार”

वर्तमान में तेजी से बदलते वक्त के इस दौर में व्यक्ति सिर्फ निर्बाध रूप से तेज दौड़ना चाहता है वो नहीं चाहता कि उसकी इस अंतहीन दौड़ में कोई उस पर टीका_टिप्पणी करे अथवा उसको रोकने का प्रयास करे और अगर उसको रोकने का प्रयास किया… तो…. अंजाम… किसी भी स्तर का हो सकता है…

…. लेकिन अगर वह अंजाम नकारात्मक हुआ और हरिद्वार पुलिस के संज्ञान में बात आई तो फिर ऐसे लोगों का जेल जाना तय है !

जनपद हरिद्वार पुलिस के कप्तान के रूप में जब से एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने कार्यभार ग्रहण किया है तब से उनके एनर्जेटिक नेतृत्व में हरिद्वार पुलिस ने एक से बढ़कर एक शानदार खुलासे करते हुए न सिर्फ राज्य बल्कि पूरे देश में नाम कमाया है और इसका सबसे बड़ा कारण अपनी टीम पर विश्वास कर निष्पक्ष और वैज्ञानिक तरीके से सबूतों की कड़ियों को जोड़कर अपराध की जड़ (अपराधी) तक पहुंचाना ।।

ऐसा ही एक वाक्या जनपद हरिद्वार के देहात क्षेत्र के थाना झबरेड़ा में इसी महीने दिनांक 15 तारीख को घटित हुआ।

जब ग्राम अकबरपुर फाजिलपुर थाना झबरेडा निवासी सोनू कुमार ने अपनी मां सावित्री देवी को घेर में मृत अवस्था में पाया और अन्तिम संस्कार से पूर्व शव को नहलाने की प्रक्रिया के दौरान गले में फंदे के निशान पाए तो मामला संदेहास्पद होने के चलते पुलिस को सूचना दी।

तत्काल हरिद्वार पुलिस टीम मौके पर पहुंची और मृतका के शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामा आदि अग्रिम विधिक कार्यवाही की गई।

मामला संदिग्ध मिलने पर जब एसएसपी को सूचना दी गई तो अनुभवी व चौंकन्ने पुलिस कप्तान प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह से मामले की जानकारी ली और पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार करने के बजाय पुलिस टीम को उस महत्वपूर्ण समय में ‘चुपचाप’ घटना से जुड़ा हर प्रकार का सबूत इकट्ठा करने को कहा।

यह एक ऐसा काम था जिसके बारे में किसी को कानों-कान कोई खबर नहीं थी यहां तक कि परिवार के सदस्यों को भी ऊपरी तौर पर कोई जानकारी नहीं थी लेकिन मामले के खुलासे में यही जानकारी ही अति महत्वपूर्ण साबित हुई।

पड़ताल में सामने आया कि बुजुर्ग मृतका के बेटे-बहु के बीच काफी समय से अनबन है साथ ही बहु के किसी के साथ प्रेम संबंध भी हैं। बहु-बेटे के झगड़ो से आज़ीज़ आकर मृतका घर से करीब 200~400 मीटर की दूरी पर स्थित घेर पर अकेले निवास करने लगी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मामले में आया नया मोड़–

जब दिनांक 27.02.2024 को हरिद्वार पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त हुई जिसमें चिकित्सकों ने अपनी राय स्पष्ट करते हुए मृत्यु का कारण ‘गला घोंटना’ बताया तो सबसे पहले मृतका के पुत्र सोनू कुमार की तरफ से थाना झबरेड़ा पर मु0अ0सं0 – 73/2024 धारा 302 ipc दर्ज किया गया।

गहरी पड़ताल से खुली परतें–

अब पिछले कई दिनों से चुपचाप जानकारी जुटा रही हरिद्वार पुलिस ने कई सारे छोटे बड़े सबूत को आपस में जोड़ते हुए मात्र 18 घंटे के भीतर मुकदमें की विवेचना कर रहे एसओ झबरेडा व साथ में लगी अन्य कई पुलिस टीमों ने प्रकाश में आए तथ्यों के आधार पर प्रकरण के संदेहास्पद चरित्र (मृतका की बहु) से गहनता से वैज्ञानिक तौर पर कांटे के प्रश्न पूछते हुए, पूछताछ की तो आधुनिक बहू बगलें झांकने लगी क्योंकि उसके पास हरिद्वार पुलिस के अकाट्य सबूतों का कोई जवाब नहीं था। यह सब इतना तेजी से हुआ कि इंटर की परीक्षा दे रही बहू को कुछ समझ नहीं आया कि इतनी जानकारी पुलिस को मिली कैसे ! और सारा घटनाक्रम खुलकर सामने आ गया।

हत्या की वजह हुई साफ–

शादी के 05 साल होने के बाद भी मृतका की बहु काफी समय से मां नही बन पा रही थी जिसका इलाज हरिद्वार और देहरादून के अस्पतालों से चल रहा था लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इसी दौरान आधार कार्ड में नाम बदलवाने एवं जाति प्रमाण पत्र बनवाने के दौरान बहू के ‘आधार कार्ड सेन्टर’ में कई चक्कर लगे और वहां काम करने वाले जौनी नाम के युवक से जान पहचान हो गई। ये पहचान धीरे-धीरे प्रेम तत्पश्चात अवैध सम्बन्ध में बदल गई जिसकी जानकारी मृतका सास को हो गयी थी। सास द्वारा बहु को बच्चा न होने और जौनी से संबंध में बदनाम करने का डर दिखा कर कथित प्रेमी से सम्बन्ध तोडने के लिए बार-बार कहा जाने लगा। इन सब चीजों से छुटकारा पाने के लिए बहु ने प्रेमी के साथ मिलकर ये खौफनाक कदम उठाया।

हत्या के लिए कथित बहु ने प्रेमी संग योजना तैयार की जिसमें बहु ने योजना के तहत हत्या से पहले घेर जाकर चुपके से अपनी सासू मां के घेर के दरवाजे की कुंडी तोड़ दी और प्रेमी जौनी द्वारा उपलब्ध करायी गई नींद की गोलियां खाने में मिलाकर सास को दे दी। उसी दिन परिवार में शादी का एक संगीत कार्यक्रम भी था। रात 11.30 बजे संगीत कार्यक्रम खत्म होने पर बहु अपनी सास के घेर के अंदर गयी और चुपके से (कुंडी पहले से टूटी होने के कारण) दरवाजे से अंदर आ गई और नींद के आगोश में सोई हुई सास का उसी के दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी। पूरे घटनाक्रम के दौरान बहू लगातार अपने प्रेमी के संपर्क में थी।

इस पूरे मामले में key🗝️फैक्टर साबित हुई कप्तान की वो सलाह, जिसमें पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले पुलिस टीमों ने हत्यारोपी बहु और उसके प्रेमी के ऐसे अनेक वैज्ञानिक व इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य (जिनका जिक्र करना यहां ठीक नहीं) संकलित किए जिनका कोई जवाब इन दोनों के पास नहीं था/है, आज पूरे देहात से लेकर शहर क्षेत्र में चर्चा का विषय रही।

आखिरकार पुलिस टीम ने दबिश देकर हत्या में शामिल कथित प्रेमी को भी दबोचकर हत्या के इस मामले में इस्तेमाल किए गए दुपट्टा, मोबाइल आदि बरामद करते हुए मुकदमें में धारा 201 व 120बी आईपीसी की बढ़ोत्तरी की गई और दोनों को माननीय न्यायालय के आदेश पर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया। विवेचना जारी है।

थाना झबरेड़ा व अन्य थाना पुलिस द्वारा पिछले कुछ समय में किए गए एक से बढ़कर एक शानदार खुलासों पर स्थानीय जनता द्वारा हरिद्वार पुलिस की कार्यशैली की सराहना की गई।

पकड़े गए हत्यारोपियों का विवऱण–
01- महिला पत्नी सोनू निवासी ग्राम अकबरपुर फाजिलपुर थाना झबरेडा जिला हरिद्वार
02- जौनी पुत्र बिजेन्द्र निवासी ग्राम अकबरपुर फाजिलपुर थाना झबरेडा जिला हरिद्वार

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top