UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-उत्तराखंड के ठेठ गांव से सार्क टैंक इंडिया तक पहुंची नमकवाली शशि, 38 लाख सालाना कारोबार

उत्तराखंड के ठेठ गांव से सार्क टैंक इंडिया तक पहुंची नमकवाली शशि, 38 लाख सालाना कारोबार

टिहरी के ठेठ गांव से ‘पिस्यूं लूंण’ यानी पिसा हुआ नमक की शुरुआत करने वाली शशि बहुगुणा रतूड़ी स्टार्टअप के मोटीवेशन शो सार्क इंडिया तक पहुंची। इस दौरान शशि ने अपनी नमकवाली यात्रा की जानकारी साझा कर उत्तराखंड का मान बढ़ाया है। शशि ने कहा कि 2018 में शुरू की नकमवाली कंपन आज 38 लाख सालाना कमा रही है। इससे परिवार और उनके साथ लम्बे समय से काम कर रही महिलाओं को रोजगार मिल रहा है। शशि के इस काम की सार्क टैंक के जजों ने तारीफ कर इन्वेस्टमेंट का ऑफर दिया है।

 

आपको बता दें कि सोनी टीवी के सार्क टैंक इंडिया कार्यक्रम में देश दुनिया के नामी स्टार्टअप की कहानी दर्शकों तक पहुंचाई जाती है। इस कार्यक्रम में आज उत्तराखंड की नमकवाली की शशि बहुगुणा रतूड़ी की कहानी दिखाई गई। सार्क टैंक के कार्यक्रम में टीम के साथ पहुंची शशि उर्फ ‘नमकवाली’ ने अपने पारंपरिक नमक पिस्यूं लूंण को लेकर सार्क टैंक इंडिया के जजों को अपने स्टार्टअप की कहानी बताई। इस दौरान ‘नमकवाली’ की कहानी सुनकर सार्क टैंक इंडिया के जज बहुत प्रभावित दिखाई दिये। सार्क टैंक इंडिया के सभी जजेज ने ‘नमकवाली’ के प्रयासों को जमकर सराहना की और कहा कि यही नया भारत है। उन्होंने शशि के कार्य को महिलाओं के लिए सशक्तिकरण से जोड़ते हुए जमकर तारीफ की गई।

 

 

 

 

गौरतलब है कि टिहरी की रहने वाली शशि बहुगुणा रतूड़ी छोटी उम्र से ही सामाजिक कामों (एनजीओ) से जुड़ी रही। उन्होंने कई सामाजिक संगठनों से जुड़करकई गंभीर मुद्दों जैसे कि पर्यावरण, नारी-सशक्तिकरण पर काम किया। पहाड़ी संस्कृति को सहेजने के लिए भी उन्होंने काम किया। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश की। इसके लिए 1982 में महिला नवजागरण समिति बनाई। समिति के ज़रिए कई मुहिम चलाई. पहाड़ों की संस्कृति और कलाओं को सहेजना इसका मुख्य उद्देश्य था।

 

 

 

वर्ष 2018 से वह नमकवाली मुहिम को आगे बढ़ा रही है। उसके साथ लम्बे समय से कुछ महिलाएं भी जुड़ी हैं। इसके अलावा कोविड़ के दौरान उनके बेटे ने भी हाथ बंटना शुरू कर दिया। इससे शशि की नमकवाली यात्रा 2 लाख से शुरू होकर महज साल के भीतर 38 लाख के टर्नओवर तक पहुंच गई है। जबकि इस साल हर माह करोबार में बढ़ोतरी हुई है। अभी तक नमकवाली के सभी प्रोडक्ट ऑनलाइन बिक रहे हैं। अब ऑफलाइन भी डिमांड आने लगी है। सार्क टैंक के जज ने नमकवाली के कारोबार में इन्वेस्टमेंट करने का ऑफर दिया है

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top