UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-अगर आपको शिक्षक बनना है तो अब ये काम करना ही होगा

अगर आप भी बीएड कर शिक्षक बनने का सपना देख रहे है, तो यह खबर आपके लिए खास है। अब शिक्षक बनने के लिए दो साल का बीएड नहीं बल्कि चार साल के इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्रान (आईटीईपी) को पढ़ई करनी होगी।

जी, हो नेशनल कॉर्सिल फॉर टीचर (एनसीटीई) ने दो साल वाले बीएड प्रोग्राम में बदलाव किए है। नई शिक्षा नीति (एनईपी) के तहत किए गए यह

 

 

 

बदलाव शैक्षणिक सत्र 2025-26 में लागू किए जाएंगे।

एनसीटीई की ओर से किए गए बदलाव शैक्षणिक सत्र 2024-25 में लागू नहीं होंगे। यानी इस सत्र में प्रवेश लेने वाले अभ्यर्थियों को पढ़ाई जारी रहेगी। हालांकि उत्तराखंड में गढ़वाल विवि और मसूरी रोड स्थित पेस्टल वीड कॉलेज में पायलट प्रोजेक्ट के तहत

वर्तमान में बी एड की चार की पढ़ाई कराई जा रही है। ऐसे में अब बदलाव होने के बाद सभी कॉलेजों में ITEP की चार साल की पढ़ाई कराई जाएगी।

आईटीईपी को खास बात यह है कि छात्र 12वीं करने के बाद सौधे हो उसमें प्रवेश कर सकेंगे। अभी तक ग्रेजुएशन केबाद दो साल को बोएड की पढ़ाई होती है। ऐसे में अभ्यर्थियों का एक साल का फायदा होगा।

आईटीईपी में प्रवेश के लिए हर साल प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाए‌गा और मेरिट के आधार पर हो प्रवेश मिलेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top