UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-तो यहाँ भी हो रही थी तैयारी ….एसएसपी के निर्देश पर भी नहीं हटाए घर की छतों से ईंट-पत्थर, केस दर्ज

रुद्रपुर में अलर्ट….एसएसपी के निर्देश पर भी नहीं हटाए घर की छतों से ईंट-पत्थर, केस दर्ज

 

Haldwani Violence: सीरगोटिया में दो घरों की छतों पर ईंट-पत्थरों के ढेर के साथ 10 से 15 लोग एकत्र मिले थे। एसएसपी के निर्देश पर पुलिस टीम ने दोनों घरों के मकानमालिकों बुद्धन खां और शाहनवाज उर्फ सोनू को नोटिस थमाया था। दोनों को तीन घंटे में ईंट-पत्थर हटाने के निर्देश दिए थे।हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने दो मकान मालिकों के खिलाफ बलवा करवाने की कोशिश के आरोप में केस दर्ज किया है

 

 

 

। दोनों के घरों की छतों पर ड्रोन से निगरानी के दौरान ईंट-पत्थरों का जखीरा मिला और इंस्पेक्टर के निर्देश के बावजूद उसे हटाया नहीं गया।जिलेभर की पुलिस हाई अलर्ट पर थी। रुद्रपुर में संवेदनशील क्षेत्रों में ड्रोन से निगरानी भी की गई थी। इस दौरान सीरगोटिया में दो घरों की छतों पर ईंट-पत्थरों के ढेर के साथ 10 से 15 लोग एकत्र मिले थे। एसएसपी के निर्देश पर पुलिस टीम ने दोनों घरों के मकानमालिकों बुद्धन खां और शाहनवाज उर्फ सोनू को नोटिस थमाया था। दोनों को तीन घंटे में ईंट-पत्थर हटाने के निर्देश दिए थे।

 

 

 

पुलिस के अनुसार एसआई नवीन बुधानी ने टीम के साथ दोबारा घरों की छत की जांच पड़ताल की तो वहां से ईंट-पत्थर नहीं हटाए गए थे। मकान स्वामियों ने लोक सेवक के आदेश का उल्लंघन किया। बताया कि ईंट- पत्थर नहीं हटाए जाने से लग रहा है कि वह घर पर लोगों को एकत्र कर बलवा कराने की कोशिश कर रहे हैं। एसआई नवीन बुधानी की तहरीर पर पुलिस ने शाहनवाज उर्फ शानू और बुद्धन खां के खिलाफ धारा 153, 188, 148, 511 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है।

 

 

 

रातभर सड़कों और संवेदनशील इलाकों में दौड़ते रहे पुलिस के वाहन

हल्द्वानी में हुई हिंसा को लेकर काशीपुर, बाजपुर और जसपुर क्षेत्र में पुलिस प्रशासन सतर्क रहा। पुलिस-प्रशासन ने शांति व्यवस्था के मद्देनजर संवेदनशील क्षेत्रों के अलावा प्रमुख चौराहों पर पुलिस बल तैनात रखा। साथ ही रातभर पुलिस ने क्षेत्र में वाहनों से गश्त कर लोगों को समय से घर जाने की अपील की।कोतवाली प्रभारी मनोज रतूड़ी ने बताया कि क्षेत्र के अलावा संवेदनशील इलाकों में ड्रोन के माध्यम से सर्च अभियान चलाया गया। इस दौरान देखा गया कि कहीं किसी छत पर ईंट-पत्थर तो एकत्र नहीं हैं। फिलहाल सर्च में ऐसा कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। वहीं सीओ अनुषा बडोला ने बताया कि क्षेत्र के यूपी बॉर्डर पर सघन चेकिंग चल रही है। पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है साथ ही संदिग्धों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है।

बाजपुर में भी सतर्क रहा पुलिस प्रशासन

बाजपुर। क्षेत्र में शनिवार को पुलिस-प्रशासन चौकस है। यूपी बॉर्डर पर पुलिस ने चेकिंग अभियान चलाया। आने जाने वाले वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है। वाहनों की तलाशी भी ली गई। नगर क्षेत्र में भी मुख्य स्थानों पर पुलिस बल तैनात रहा। केलाखेड़ा क्षेत्र में पुलिस की गश्त रही। संवाद

हल्द्वानी हिंसा से रोडवेज को रोज लग रही 35 हजार रुपये की चपत

हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुई हिंसा के बाद काशीपुर से हल्द्वानी जाने वाली बसों का संचालन प्रभावित हो गया है। इससे काशीपुर डिपो को रोजाना करीब 30-35 हजार रुपये की चपत लग रही है। हल्द्वानी में अवैध अतिक्रमण को हटाने को लेकर हुई हिंसा के बाद क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई थी जिसके बाद से आवश्यक सेवाओं के अतिरिक्त अन्य सभी सेवाएं बंद हैं। इसी के साथ हल्द्वानी डिपो से बसों का संचालन भी प्रभावित है।वहीं काशीपुर और अन्य डिपो की बसें भी हल्द्वानी नहीं जा पा रही हैं। काशीपुर डिपो से हल्द्वानी के लिए रोजाना तीन बसें जाती थीं जिसमें जसपुर-रुद्रपुर-हल्द्वानी सुबह साढ़े पांच बजे, काशीपुर-बाजपुर-हल्द्वानी 7:30 बजे और काशीपुर-रुद्रपुर-हल्द्वानी 8:30 बजे जाती थी। रोडवेज बस काशीपुर से हल्द्वानी करीब ढाई घंटे में पहुंच जाती है। यही कारण है सुबह 5:30 बजे की बस से नौकरीपेशा लोग यात्रा करते है। अब हल्द्वानी में धारा 144 लगी है इसलिए इन बसों को मार्ग पर नहीं भेजा जा रहा है।

काशीपुर डिपो से तीन बसों का संचालन हल्द्वानी के लिए होता था। लेकिन कर्फ्यू के बाद हल्द्वानी रूट पर बसों को न भेजने का आदेश आया है। प्रत्येक बस रोजाना आठ से 12 हजार की आय अर्जित करती थी। आगे के आदेश तक रूट पर बसों का संचालन बंद रहेगा। – हरेंद्र सिंह नितवाल, वरिष्ठ डिपो प्रभारी, काशीपुरप्राइवेट बसें नहीं हुईं प्रभावित

आवास विकास स्थित निजी बस स्टॉप से निजी बसें वाया बाजपुर-कालाढूंगी होते हुए हल्द्वानी जाती हैं। हल्द्वानी में हुई हिंसा को लेकर निजी बसों पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़ा है। बस यूनियन के अमृत सिंह लहरी ने बताया कि रोजाना 25 से 30 बसों का संचालन होता है। वर्तमान में भी संचालन हो रहा है पर सवारी कम हैं। बसें कुसुमखेड़ा तक जा रही हैं।

हल्द्वानी में सवारी छोड़कर लौटी एक रोडवेज बस

काशीपुर। कालाढूंगी-दिल्ली मार्ग पर जाने वाली एक बस शनिवार को हल्द्वानी होकर भी आई। चालक सुखचैन ने बताया कि दिल्ली से सवारियां लेकर वह कालाढूंगी फिर हल्द्वानी पहुंचा जहां डिपो में कुछ सवारियां उतारी और बैठाई। बताया कि ज्यादा देर रुकने से मना कर दिया गया।

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 न्यूज़ हाइट के समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 न्यूज़ हाइट के फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 गूगल न्यूज़ ऐप पर फॉलो करें


अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारी इन वैबसाइट्स से भी जुड़ें -

👉 www.thetruefact.com

👉 www.thekhabarnamaindia.com

👉 www.gairsainlive.com

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top