UTTARAKHAND NEWS

Big breaking :-DM मेहरबान का सख्त रुख, सड़क और पुलों के निर्माण मे तेजी के निर्देश, वरना होगी कार्यवाई

 

जिलाधिकारी डा.मेहरबान सिंह बिष्ट ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) की सड़कों व पुलों का निर्माण कार्य तेजी से पूरा करने के लिए कार्यदायी संस्थाओं को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि वनभूमि अथवा पुल निर्माण के कारण लंबित कार्यों को छोड़कर बाकी सभी चालू निर्माण कार्य आगामी 31 मार्च तक अवश्य पूर्ण कर लिए जांय।

 

 

उन्होंने कहा कि सड़कों के निर्माण में देरी अब बरदाश्त नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने यमुनोत्री धाम के लिए रोपवे निर्माण की परियोजना को जल्द धरातल पर उतारे जाने पर जोर देते हुए इस परियोजना के बावत कायदायी संस्था वाप्कोस से विस्तृत ब्यौरा तलब किया है। उन्होंने कहा कि रोप-वे बनने से यमुनोत्री धाम की यात्रा सुगम व सुविधाजनक होगी और तीर्थाटन को बढावा मिलेगा व स्थानीय लोगोें के लिए रोजगार के नए अवसर सृजित हो सकेंगे। लिहाजा इस परियोजना पर प्राथमिकता के साथ काम किया जाना जरूरी है।

 

 

जिलाधिकारी डा. मेहरबान सिंह बिष्ट ने जिला मुख्यालय में आयोजित एक बैठक में पीएमजीएसवाई, ब्रिडकुल एवं वाप्कोस लि. के कार्यों की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि जनहित में गांवों को सड़कों से जोड़े जाने का काम तत्परता से पूरा किया जाना आवश्यक है।

 

 

अनेक सड़कों का निर्माण लंबे समय तक पूरा न होने के मामलों को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने पीएमजीएसवाई के सभी खंडों के कार्यों की विस्तार से जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि गोविन्द वन्य जीव विहार के अंतर्गत वन क्षेत्र में पड़ने वाली 8 सड़कों का निर्माण कार्य पार्क प्रशासन द्वारा रोका गया है। इसके साथ ही सौड़-ओसला मोटर मार्ग पर 90 मीटर स्पान और सिर्गा मोटर मार्ग पर 48 मीटर स्पान का पुल बनेगा। जिससे इन सड़कों के निर्माण में समय लग रहा है।

 

 

जिलाधिकारी ने पीएमजीएसवाई के अभियंताओं को वन क्षेत्र के कारण रोके गए निर्माण कार्यों की वस्तुस्थिति, वनभूमि अंतरण की स्वीकृति आदि से संबंधित तथ्यात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करनेे की हिदायत देते हुए कहा कि इन मामलों में शनिवार को वन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में विचार-विमर्श कर समाधान तलाशा जाएगा और जरूरत पड़ी तो यह मामले में शासन स्तर पर भी उठाए जाएंगे।
जिलाधिकारी ने गंगोरी-डोडीताल मार्ग का स्थिति सुधारे जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस सड़क के शुरूआती हिस्से में पीसी कार्य करवाने का प्रस्ताव तुरंत तैयार किया जाय। उन्होंने सौरा-सारी मार्ग सहित भटवाड़ी ब्लॉक के दूरस्थ गांव पिलंग व सालंग के लिए निर्माणाधीन सड़कों के निर्माण की प्रगति की जानकारी लेते हुए अवशेष कार्यों तथा पुल निर्माण के काम को समय से पूरा करने की हिदायत दी। जिलाधिकारी ने बायणा से स्याबा के लिए निर्माणाधीन सड़क का काम तीन साल से अवरूद्ध रहने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस सड़क को स्याबा गांव तक पहॅुचाने की राह में जो भी अड़चन है उसे दूर करने का गंभीरता से प्रयास करें। डा. बिष्ट ने कहा कि इस मामले को वह शासन के सामने भी रखेंगे।

 

 

 

जिलाधिकारी ने ब्रिडकुल व वाप्कोस लि. के अधीन निर्माणाधीन सड़कों व पुलों की प्रगति की जानकारी ली और निर्माण कार्य लंबे समय तक पूरा न होने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए स्थिति में जल्द सुधार लाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि इन कार्यों की नियमित समीक्षा की जाएगी व निर्धारित समयसीमा में सड़कों व पुलों का काम पूरा न करने वाले अभियंताओं की जवाबदेही तय कर कार्रवाई की जाएगी।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जय किशन के साथ ही पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता वाई.के.सिंह, सहायक अभियंता राखी खंडूड़ी, सुभाशीष राणा, वाप्कोस के स्थानिक अभियंता आशीष चौधरी, ब्रिडबकुल के अभियंता अनुराग चौहान सहित आदि ने भाग लिया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top